Pages

Monday, 21 March 2016

फोटो समाचार
 देश में सबसे सशक्त प्रचार तंत्र है हरियाणा में: सैणी
----------------
राज्य स्तरीय कार्यशाला में 5 नए नाटक व 20 नए गीत किए तैयार, पांच दिवसीय राज्यस्तरीय कार्यशाला सम्पन्न
कुरुक्षेत्र 19 मार्च - सूचना जनसपंर्क एवं सांस्कृतिक कार्य विभाग हरियाणा के सयुंक्त निदेशक (क्षेत्र) डा. कुलदीप सैणी ने कहा कि देश में प्रचार-प्रसार का हरियाणा में सबसे सशक्त माध्यम लोक कलाकार के रूप में है। इन लोक कलाकारों को अप-टू-डेट करना बहुत जरूरी है। इसलिए राज्य सरकार इन कलाकारों को हर साल प्रशिक्षण देने का काम कर रही है।
वे शुक्रवार को देर सायं मल्टी आर्ट कल्चरल सेंटर के सभागार में सूचना, जन सम्पर्क एवं सांस्कृतिक कार्य विभाग की तरफ से आयोजित पांच दिवसीय ड्रामा पार्टी एवं आरसीटीओ ग्रुप रोहतक के कलाकारों की राज्य स्तरीय कार्यशाला के समापन समारोह में बतौर मुख्यातिथि के रुप में  बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि हरियाणा में प्रचार-प्रसार का कुशल व निपुण साधन लोक कलाकार है। आज हरियाणा में गायकी का मूल स्वरूप बदल चुका है। इस बदलते परिवेश मे विभागीय कलाकारों को भी अपने लोकगीतों में नयापन लाना होगा। इस कार्यशाला में लोककारों को संगीत विभाग, लोक कलाकारों व अन्य विशेषज्ञों द्वारा प्रशिक्षण देने का काम किया गया है। अब 31 मार्च के बाद सभी कलाकार अपने अपने क्षेत्र में जाकर बेहतर तरीके से सरकार की नीतियों का प्रचार प्रसार करने का काम करेंगे।
           मल्टी आर्ट कल्चरल सेंटर के अतिरिक्त मुख्य सलाहकार महेश जोशी ने कहा कि कलाकारों का कार्य वास्तव में बहुत महत्वपूर्ण है। इन लोक कलाकारों में हुनर और क्षमता है। लोक कलाकार ही जनता के मन की बात जान सकता है और आमजन की आवाज बन सकता है।
 इस कार्यशाला के पांचों दिन सेवानिवृत देवराज सिरोहीवाल, प्रसिद्ध लोककार बालकिशन जुआ, गीतकार मांगेराम खत्री, मंथन ग्रुप के निर्देशक उमाशंकर, प्रोफेसर सूचि स्मिता, डा, अशोक शर्मा, डीएवी स्कूल से विकास, डा. प्रेम कुमार आदि ने कलाकारों से अपने अनुभव सांझा करते हुए कहा कि प्रत्येक व्यक्ति का अपना दृष्टिकोण होता है और हर व्यक्ति अपने अनुभव रखता है। इसलिए सभी को अपने जीवन के अनुभवों को संगीत और लोक गीतों में डालना चाहिए। सभी कलाकारों को अपना लक्ष्य निर्घारित करना चाहिए और इस लक्ष्य हासिल करने के लिए मेहनत करनी चाहिए। सभी कलाकार अच्छा काम कर सकते है। 
              उन्होंने कहा कि श्रोताओं व दर्शकों की पसंद को ध्यान में रखते हुए ही अपने लोक गीत व संगीत तैयार करना चाहिए। जब तक कलाकार दर्शकों को अपने संगीत के जादू के साथ नहीं जोड़ता तब तक  सरकार की बात को आमजन तक नहीं पहुंचाया जा सकता है। कलाकार को सामाजिक दायित्व के साथ लोगों को मुख्यधारा के साथ जोडऩे का काम करना होगा और आमजन को प्रेरित करने का प्रयास करना होगा।
              जिला सूचना एवं जन सम्पर्क अधिकारी सुनील कुमार ने मेहमानों का स्वागत करते हुए कहा कि  राज्य स्तरीय कार्यशाला की पांच दिन की रिपोर्ट प्रस्तुत करते हुए कहा कि इस,कार्यशाला पांच नए नाटक व 20 नए गीत तैयार किए गए है। सेवानिवृत डीआईपीआरओ देव राज सिरोहीवाल ने मेहमानों का आभार व्यक्त किया। इस कार्यशाला के मंच का संचालन कार्यशाला के संयोजक एआईपीआरओ डा. नरेंद्र सिंह ने किया।

फोटो समाचार 
बेहतर प्रबंधन से ही बढ़ेगी जल उपलब्धता : चौहान 
जल क्रांति अभियान के अंतर्गत हिरमी में एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन

कुरुक्षेत्र, 19 मार्च 2016 : हरियाणा सिंचाई अनुसंधान एवं प्रबंधन संस्थान के प्रधान निदेशक राकेश चौहान ने कहा कि बेहतर प्रबंधनों से ही जल उपलब्धता बढ़ेगी। पानी की उपयोगिता समझने पर ही सही तरीके से प्रबंधन किया जा सकता है। इसलिए सभी लोगों के इस मुहिम में साथ देना चाहिए। जल ग्राम योजना के तहत गांव में जल प्रबंधन के प्रोजेक्ट को चलाया जाएगा ताकि पानी की उपलब्धता को अहमियत को समझा जा सके। वे हिरमी में जल क्रांति अभियान के अंतर्गत आयोजित एक दिवसीय प्रदेश स्तरीय कार्यशाला को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि प्राकृतिक जल संसाधन घटते जा रहे हैं और जल का दोहन लगातार बढ़ रहा है। जल स्त्रोत घटने एवं जनसंख्या के अनुसार जल की मांग बढ़ने से उचित मात्रा में पानी उपलब्ध नहीं हो पा रहा है। इसलिए पानी को बचाने के लिए प्रबंधन के तरीकों को अपनाना होगा। सिंचाई विभाग के मुख्य अभियंता राजीव बंसल ने कहा कि नीतियां बनती हैं, लेकिन क्रियान्वयन के लिए योजना नहीं बनती हैं। प्रदेश के दर्जनों गांव ऐसे हैं, जहां पर जल की उपलब्धता पर्याप्त मात्रा में नहीं है। विभाग द्वारा योजनाएं बनाई जाती हैं, लेकिन उनकी सफलता आम जनता की भागेदारी सबसे अहम है। उन्होंने कहा कि कृषि क्षेत्र में जल का सबसे ज्यादा दोहन किया जा रहा है। इसको रोकने के लिए फसल चक्र को अपनाने की आवश्यकता है। लगातार जल दोहन से जल स्त्रोत घट रहे हैं, ऐसे में जल संरक्षण एवं प्रबंधन की योजना ही सबसे महत्वूपर्ण है। जल क्रांति अभियान के नोडल अधिकारी एवं सिंधु बेसिन के अधीक्षण अभियंता पी दोर्जे ने कार्यशाला में हिस्सा लेने पहुंचे ग्राम पंचायतों के सरपंच, किसान व ग्राम सचिवों को जल क्रांति योजना के तहत गांव में बनाए जाने वाले प्रोजेक्ट के बारे में विस्तार से बताया। उन्होंने सेमीनार में हिस्सा ले रहे प्रतिभागियों को भूजल की रिचार्जिंग के लिए कार्यक्रम बनाने का भी आह्वान किया। वरिष्ठ कृषि विशेषज्ञ डॉ. ओपी लठवाल ने सेमीनार में हिस्सा लेने पहुंचे प्रतिभागियों को आधुनिक तरीके से जल बचाने के तरीकों से अवगत करवाया। कृषि में सीधी बिजाई से जल बचत पर विस्तार से बताया। फसल चक्र अपनाकर जल संरक्षण एवं जल का उचित उपयोग किया जा सकता है। केंद्रीय जल बोर्ड चंडीगढ़ के साइंटिस्ट एसके सहगल ने किसानों को भूजल की स्थिति एवं जल संरक्षण के बारे में विस्तार से बताया।

पिहोवा। उपमंडल विधिक सेवा प्राधिकरण की तरफ से स्थानीय कोर्ट परिसर में लोक अदालत का आयोजन किया गया। इस लोक अदालत में 34 मामलों का मौक़े पर समाधान किया गया। यह जानकारी देते हुए उपंडल विधिक सेवा प्राधिकरण के चेयरमैन व न्यायाधीश विवेक यादव ने बताया कि लोक अदालत में कुल 167 मामले रखे गए इनमें से 34 मामलों का समाधान किया गया है। इन मामलों में सीआरएल कंपाउंडएबल के दो सिविल के पाँच डीवी एक्ट का एक एक्जीक्यूशन के एक समरी के पाँच केसों में 8000 रुपए के आदेश पारित किए है। उन्होंने बताया कि एनआई एक्ट 138 के तीन तथा अन्य केसों में एक मामले का समाधान किया गया है। उन्होंने बताया कि 20 मार्च को गाँव गढ़ी लांगरी में क़ानूनी साक्षरता शिविर का आयोजन किया जाएगा। इस शिविर के लिए पैनल के अधिवक्ता अनिल बाँगड़ी की ड्यूटी लगाई है।

लोक अदालत में किया 34 मामलों का समाधान 
पिहोवा, 19 मार्च : उपमंडल विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा न्यायालय परिसर में लोक अदालत का आयोजन किया गया। लोक अदालत में 34 मामलों का मौके पर निपटान किया गया। उपमंडल विधिक सेवा प्राधिकरण के चेयरमैन व न्यायाधीश विवेक यादव ने बताया कि लोक अदालत में कुल 167 मामले व शिकायतें आई। इनमें से सभी की सुनवाई की गई, जिनमें से 34 मामलों का मौके पर ही निपटारा किया गया।  इन मामलों में सीआरएल कंपाउंड एबल के दो सिविल के पांच डीवी एक्ट का एक एक्जीक्यूशन के एक समरी के पांच केसों में 8000 रुपये के आदेश पारित किए है। उन्होंने बताया कि एनआई एक्ट 138 के तीन तथा अन्य केसों में एक मामले का समाधान किया गया है। 
20 मार्च को गांव गढ़ी लांगरी में क़ानूनी साक्षरता शिविर का आयोजन किया जाएगा। इस शिविर के लिए पैनल के अधिवक्ता अनिल बाँगड़ी की ड्यूटी लगाई है।

एचएसएसी परीक्षा के दौरान भारी वाहना प्रवेश बंद 
कुरुक्षेत्र, 19 मार्च : उपायुक्त सीजी रजिनिकांतन ने कहा कि हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग पंचकूला द्वारा पीजीटी परीक्षा के दौरान शहर में 20 मार्च को सुबह 7 बजे से लेकर सायं 7 बजे तक भारी वाहनों का प्रवेश पूरी तरह बंद रहेगा। परीक्षा केंद्रों पर धारा-144 लागू रहेगी, जिसके तहत सुरक्षा के भी कड़े प्रबंध किए गए हैं। परीक्षा के दौरान यातायात व्यवस्था बाधित न हो धार-144 सीआरपीसी के तहत भारी वाहनों के प्रवेश पर पूर्ण रूप से प्रतिबंध रहेगा। यदि कोई इसकी अवहेलना करता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। इसके लिए सभी अधिकारियों व विभागाध्यक्षों को सूचित कर दिया गया है ताकि आदेशों का कड़ाई के साथ पालन हो सके।

फोटो समाचार
कोर्ट परिसर के  स्वास्थ्य जांच शिविर में 125 लोगों का किया चैकअप 
कुरुक्षेत्र 19 मार्च - जिला विधिक सेवा प्राधिकरण व स्वास्थ्य विभाग के सहयोग से स्थानीय अदालत परिसर में स्वास्थ्य जांच शिविर का आयोजन किया गया। इस शिविर  का उद्घाटन जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के चेयरमैन तथा जिला एवं सत्र न्यायाधीश अरूण कुमार त्यागी ने किया। 
                 शनिवार को अदालत परिसर में लगाए स्वास्थ्य जांच शिविर में बोलते हुए जिला एवं सत्र न्यायाधीश अरुण कुमार त्यागी ने कहा कि शरीर को स्वस्थ्य रखने के लिए परहेज करना जरूरी है और जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की तरफ से समय समय स्वास्थ्य जांच शिविर का आयोजन निरंतर किया जाएगा। डिप्टी सिविल सर्जन डा. एन पी सिंह ने बताया कि इस शिविर में करीब 125 लोगों के रक्त, ईसीजी,शुगर आदि रोगों का जांच की गई है। ह्दय एवं छाती रोग विशेषज्ञ डा. शैलेंद्र ममंगई शैली ने अपने विचार रखे और कहा कि सिविल सर्जन डा. एस के नैन के दिशानिर्देशानुसार स्वास्थ्य जांच शिविर का आयोजन किया गया है। इस शिविर में नेत्र रोग विशेषज्ञ डा. मुकेश कुमार, डा.अनूप मैहता, डा. सुरेंद्र, डा.आलोक देवी, डा. रीना सहित अन्य चिकित्सक व अधिकारी मौजूद थे।

No comments:

Post a Comment