Pages

Tuesday, 22 March 2016

प्रदेश की संस्कृति व परम्परा को बरकरार रखने में महिलाओं का अहम योगदान : हवा सिंह

फोटो समाचार
प्रदेश की संस्कृति व परम्परा को बरकरार रखने में महिलाओं का अहम योगदान : हवा सिंह
ब्लाकस्तरीय बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ कार्यक्रम का एसडीएम ने किया शुभारंभ, महिलाओं व बेटियों को दी सरकार की योजनाओं की जानकारी
शाहाबाद 21 मार्च - उपमंडल अधिकारी (ना.) शाहाबाद हवा सिंह ने कहा कि प्रदेश की संस्कृति व परम्परा को बरकरार रखने में महिलाओं का अहम योगदान है। बेटियों को शिक्षित करना निहायत जरूरी है और महिलाओं व आमजन को सरकार की योजनाओं की भी जानकारी होनी चाहिए। 
वे सोमवार को शिव मंदिर धर्मशाला में महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा आयोजित ब्लाकस्तरीय बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि के रूप में बोल रहे थे।  इस दौरान एसडीएम ने सभागार में मौजूद सभी महिलाओं व लोगों को कन्या भ्रूण हत्या को रोकने की शपथ भी दिलाई। उन्होंने कहा कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 22 जनवरी 2015 को पानीपत की धरा से राष्ट्रव्यापी बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान को शुरू करने का काम किया। प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल के मार्गदर्शन में हरियाणा प्रदेश ने एक साल में ही बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान में कामयाबी हासिल की और लिंगानुपात की स्थिति में सुधार आया है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने बेटियों के उत्थान के लिए आपकी बेटी हमारी बेटी, ग्रामीण बालिकाओं को पुरस्कार, किशोर शक्ति योजना, सर्वोत्तम माता पुरस्कार व खेलकूद प्रतियोगिताओं जैसी अनेकों योजनाओं को शुरू किया है। सभी को इन योजनाओं का फायदा उठाना चाहिए तभी सरकार के प्रयास सार्थक होंगे। 
महिला एवं बाल विकास विभाग की जिला परियोजना अधिकारी गुरविंद्र कौर मल्ली ने बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ के ब्लाकस्तरीय कार्यक्रमों की श्रृंखला के बारे में विस्तृत जानकारी देते हुए कहा कि महिलाओं को कन्या भ्रूण हत्या जैसी कुरीतियों के प्रति जागरुक करने का काम किया जा रहा है। सरकार की योजना है कि जो भी व्यक्ति इस जघन्य अपराध के बारे में सूचना देगा, तो उसको एक लाख रुपए की ईनाम राशि व नाम को गोपनीय रखा जाएगा। सभी को सरकार का सहयोग करना चाहिए। इस कार्यक्रम में एसएमओ रविंद्र कुमार और सीडीपीओ सुखवंत कौर तथा बीईओ रामदिया घाघट ने भी अपने विचार व्यक्त किए। 
कार्यक्रम में ड्रामा पार्टी कुरुक्षेत्र व भजन पार्टी शाहाबाद के कलाकारों ने सामाजिक कुरीतियों के प्रति लोगों को जागरुक करने और राज्य सरकार की योजनाओं पर आधारित लोकगीत व भजनों की प्रस्तुति दी। इस कार्यक्रम के मंच का संचालन कलाकार रमेश शर्मा ने किया। इस मौके पर एसएमओ रविंद्र कुमार, बीईओ रामदिया घाघट, सीडीपीओ सुखवंत कौर, सरपंच नरेश कुमार, कृष्ण कुमार, संदीप कुमार, देवेंद्र शर्मा, सर्वजीत सिंह, बादसिंह, अमित कुमार, राजबीर सिंह, अमरजीत सिंह, अमरीक सिंह, शरणजीत सिंह, विक्रमजीत सिंह, केसर सिंह मंजीत कौर, सुप्रभा शर्मा, किरणा देवी, धर्मबीर, राजेश कुमार, टोनी आदि उपस्थित थे।

प्रवेश कुमारी बनी ब्लाक समिति की चेयरमैन
शाहाबाद 21 मार्च - एसडीएम हवा सिंह की देख-रेख में स्थानीय बीडीपीओ कार्यालय में सोमवार को ब्लाक समिति के चेयरमैन व वाईस चेयरमैन पद के लिए चुनाव प्रक्रिया शांतिपूर्ण ढंग से सम्पन्न हुई। इस चुनाव में प्रवेश कुमारी ब्लाक समिति की चेयरमैन बनी और बलविंद्र सिंह को वाईस चेयरमैन चुना गया। 
एसडीएम हवा सिंह ने बताया कि ब्लाक समिति के चेयमरैन व वाईस चेयरमैन पद के लिए वोटिंग हुई। इस चुनाव प्रक्रिया में चेयरमैन पद के प्रत्याशी वार्ड 11 से प्रवेश कुमारी तंगौर को कुल 18 वोट मिले और वार्ड एक से देवेंद्र कौर को 5 वोट मिले। इस प्रकार प्रवेश कुमारी को 13 वोटों से जीत हासिल हुई, जबकि वाईस चेयरमैन पद पर वार्ड 18 से बलविंद्र सिंह उर्फ रिंकु को निविर्रोध रूप से चुन लिया गया।

Monday, 21 March 2016

किसानों को फसलों का भुगतान सीधा जमा होगा खातों मे: सुधा

फोटो समाचार
किसानों को फसलों का भुगतान सीधा जमा होगा खातों मे: सुधा
--------------
विधायक सुभाष  सुधा ने किया जिला स्तरीय किसान मेला एवं प्रदर्शनी का शुभारंभ, करीब 3000 किसानों ने लिया भाग, कृषि विभाग के किसान मेले में वैज्ञानिकों ने दिए टिप्स  

कुरुक्षेत्र 20 मार्च -थानेसर विधायक सुभाष सुधा ने कहा कि किसानों को फसलों की राशि का भुगतान सीधा किसानों के बैंक खाते में जमा करवाने की व्यवस्था राज्य सरकार बना रही है। इतना ही नहीं सरकार ने किसानों को प्रशिक्षण एवं फसलों की गुणवता में सुधार लाने की योजनाओं पर काम कर रही है।


       वे रविवार को पिपली रोड पर कृषि विभाग द्वारा आतमा एवं फसल विविधिकरण कार्यक्रम के अतंगर्त आयोजित जिला स्तरीय किसान मेले एवं प्रदर्शनी के उद्घाटन समारोह में बोल रहे थे। इससे पहले थानेसर विधायक सुभाष सुधा, लाडवा विधायक डा. पवन सैणी, भाजपा के जिला अध्यक्ष धर्मबीर मिर्जापुर, कृषि विभाग के उपनिदेशक डा. वजीर सिंह, एसडीओ जितेंद्र मैहता, बलबीर सिंह भान सहित अन्य मेहमानों व किसानों ने कृषि विभाग की तरफ से लगाई गई प्रदर्शनी में 70 से ज्यादा स्टालों का अवलोकन किया और इस दौरान विधायक सुभाष सुधा व डा. पवन सैणी ने किसानों से बातचीत की और फसलों व अन्य विषय सामग्री के बारे में जानकारी हासिल की है।
विधायक सुभाष सुधा ने किसान मेला में पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि कृषि विभाग की तरफ से आयोजति किसान मेला में किसानों को नई जानकारी मिलती है और किसानों को फसल विविधिकरण के बारे में नई तकनीकी की जानकारी हासिल होती है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार किसानों के हित में कार्य कर रही है। भाजपा की प्रदेश में पहली सरकार ने जिसने किसानों को मुआवजे के रूप में 1092 करोड़ और सफेद मक्खी से फसलों का नुकसान होने पर अभी हाल में ही करीब 900 करोड़ रुपए मुआवजा राशि जारी किया है। सरकार किसानों के लिए फर्टिलाइजर की सबसिडी को सीधा बैंक खाते में भेजने पर विचार कर रही है। 
उन्होंने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल के आदेशानुसार एक टीम ने दो राज्यों का दौरा करके फसलों के रखरखाव व साइलोज गोदामों का जायजा लिया है। इस योजना को हरियाणा प्रदेश में लागू करने का काम किया जाएगा। इस किसान मेले में वरिष्ठ वैज्ञानिक डा. सी बी सिंह ने सब्जियों, वैज्ञानिक एवं किसान धर्मबीर यादव ने डीएसआर तकनीक, डा. दलीप गोसांई, डा. हरि ओम, डा. बी आर कंबोज, नाबार्ड के डीडीएम डा.आर.एस मोर आदि विशेषज्ञों ने फसलों के विविधिकरण पर विस्तार से किसानों को जानकारी दे कर कम लागत पर अच्छा मुनाफा कमाने के बारे में बताया। कृषि विभाग के उपनिदेशक डा. वजीर सिंह ने बताया कि इस किसान मेले में जिला भर से करीब 3000 किसानों ने भाग लिया और विभिन्न कंपनियों व उन्नत किसानों, पीएनबी बैंक, शिक्षा विभाग, आयुष, एनजीओ सर्व कल्याण सस्ंथान सहित अन्य विभागों ने करीब 70 स्टाल भी लगाए। इस मेले से किसानों को फायदा मिलेगा। इस कार्यक्रम में कृषि क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य करने पर वैज्ञानिक डा. सीबी सिंह व अन्य मेहमानों को विधायक सुभाष सुधा ने स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया और विभाग की तरफ से डा. वजीर सिंह ने मुख्यातिथि विधायक सुभाष सुधा को स्मृति चिन्ह भेंट किया।  इस किसान मेले के मंच का संचालन डा. विनोद कुमार ने किया। इस मौके पर मुकंद लाल सुधा, रमेश सुधा, अमीरचंद, डा. जितेंद्र मैहता, बलबीर सिंह भान, सुरेश कुमार, सतीश कुमार सहित अन्य अधिकारी, किसान व गणमान्य लोग मौजूद थे।


फोटो समाचार
विधायक सुभाष सुधा ने किया लक्ष्मण चौंक का उद्घाटन

कुरुक्षेत्र 20 मार्च।  थानेसर विधायक सुभाष सुधा ने धर्मनगरी के प्रत्येक चौंक को सुंदर बनाने का प्रयास किया जाएगा। इतना ही पिपली से कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय के तीसरे गेट तक सडक़ सौंदर्यकरण भी किया जाएगा।
वे रविवार को लक्ष्मण चौंक का उद्घाटन करने के उपरांत लोगों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि अभी विधानसभा सत्र में शहर व हलका की प्रमुख मांगों को रखा है और राज्य सरकार सभी मांगों पर पूरी गौर करेंगी। राज्य सरकार ने पहले ही कुरुक्षेत्र के विकास के लिए करोड़ों रुपए की परियोजनाओं को अमलीजामा पहनाने का काम किया है। इस तमाम योजनाओं के लिए शहर वासियों के सहयोग की निहायत जरूरत होगी।
इस मौके पर हवा सिंह यादव, पवन शर्मा, लोकेश मैहता, अमन कंबोज, मामचंद मलिक, श्रीनिवास,एमएल सिंगला, गोपाल गौड़, अमन भार्गव, हरदेव शर्मा, रवि कुमार, मुंशी राम, शिव चरण सहित अन्य कार्यकर्ता और कालोनी निवासी मौैजूद थे।
फोटो समाचार
 देश में सबसे सशक्त प्रचार तंत्र है हरियाणा में: सैणी
----------------
राज्य स्तरीय कार्यशाला में 5 नए नाटक व 20 नए गीत किए तैयार, पांच दिवसीय राज्यस्तरीय कार्यशाला सम्पन्न
कुरुक्षेत्र 19 मार्च - सूचना जनसपंर्क एवं सांस्कृतिक कार्य विभाग हरियाणा के सयुंक्त निदेशक (क्षेत्र) डा. कुलदीप सैणी ने कहा कि देश में प्रचार-प्रसार का हरियाणा में सबसे सशक्त माध्यम लोक कलाकार के रूप में है। इन लोक कलाकारों को अप-टू-डेट करना बहुत जरूरी है। इसलिए राज्य सरकार इन कलाकारों को हर साल प्रशिक्षण देने का काम कर रही है।
वे शुक्रवार को देर सायं मल्टी आर्ट कल्चरल सेंटर के सभागार में सूचना, जन सम्पर्क एवं सांस्कृतिक कार्य विभाग की तरफ से आयोजित पांच दिवसीय ड्रामा पार्टी एवं आरसीटीओ ग्रुप रोहतक के कलाकारों की राज्य स्तरीय कार्यशाला के समापन समारोह में बतौर मुख्यातिथि के रुप में  बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि हरियाणा में प्रचार-प्रसार का कुशल व निपुण साधन लोक कलाकार है। आज हरियाणा में गायकी का मूल स्वरूप बदल चुका है। इस बदलते परिवेश मे विभागीय कलाकारों को भी अपने लोकगीतों में नयापन लाना होगा। इस कार्यशाला में लोककारों को संगीत विभाग, लोक कलाकारों व अन्य विशेषज्ञों द्वारा प्रशिक्षण देने का काम किया गया है। अब 31 मार्च के बाद सभी कलाकार अपने अपने क्षेत्र में जाकर बेहतर तरीके से सरकार की नीतियों का प्रचार प्रसार करने का काम करेंगे।
           मल्टी आर्ट कल्चरल सेंटर के अतिरिक्त मुख्य सलाहकार महेश जोशी ने कहा कि कलाकारों का कार्य वास्तव में बहुत महत्वपूर्ण है। इन लोक कलाकारों में हुनर और क्षमता है। लोक कलाकार ही जनता के मन की बात जान सकता है और आमजन की आवाज बन सकता है।
 इस कार्यशाला के पांचों दिन सेवानिवृत देवराज सिरोहीवाल, प्रसिद्ध लोककार बालकिशन जुआ, गीतकार मांगेराम खत्री, मंथन ग्रुप के निर्देशक उमाशंकर, प्रोफेसर सूचि स्मिता, डा, अशोक शर्मा, डीएवी स्कूल से विकास, डा. प्रेम कुमार आदि ने कलाकारों से अपने अनुभव सांझा करते हुए कहा कि प्रत्येक व्यक्ति का अपना दृष्टिकोण होता है और हर व्यक्ति अपने अनुभव रखता है। इसलिए सभी को अपने जीवन के अनुभवों को संगीत और लोक गीतों में डालना चाहिए। सभी कलाकारों को अपना लक्ष्य निर्घारित करना चाहिए और इस लक्ष्य हासिल करने के लिए मेहनत करनी चाहिए। सभी कलाकार अच्छा काम कर सकते है। 
              उन्होंने कहा कि श्रोताओं व दर्शकों की पसंद को ध्यान में रखते हुए ही अपने लोक गीत व संगीत तैयार करना चाहिए। जब तक कलाकार दर्शकों को अपने संगीत के जादू के साथ नहीं जोड़ता तब तक  सरकार की बात को आमजन तक नहीं पहुंचाया जा सकता है। कलाकार को सामाजिक दायित्व के साथ लोगों को मुख्यधारा के साथ जोडऩे का काम करना होगा और आमजन को प्रेरित करने का प्रयास करना होगा।
              जिला सूचना एवं जन सम्पर्क अधिकारी सुनील कुमार ने मेहमानों का स्वागत करते हुए कहा कि  राज्य स्तरीय कार्यशाला की पांच दिन की रिपोर्ट प्रस्तुत करते हुए कहा कि इस,कार्यशाला पांच नए नाटक व 20 नए गीत तैयार किए गए है। सेवानिवृत डीआईपीआरओ देव राज सिरोहीवाल ने मेहमानों का आभार व्यक्त किया। इस कार्यशाला के मंच का संचालन कार्यशाला के संयोजक एआईपीआरओ डा. नरेंद्र सिंह ने किया।

फोटो समाचार 
बेहतर प्रबंधन से ही बढ़ेगी जल उपलब्धता : चौहान 
जल क्रांति अभियान के अंतर्गत हिरमी में एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन

कुरुक्षेत्र, 19 मार्च 2016 : हरियाणा सिंचाई अनुसंधान एवं प्रबंधन संस्थान के प्रधान निदेशक राकेश चौहान ने कहा कि बेहतर प्रबंधनों से ही जल उपलब्धता बढ़ेगी। पानी की उपयोगिता समझने पर ही सही तरीके से प्रबंधन किया जा सकता है। इसलिए सभी लोगों के इस मुहिम में साथ देना चाहिए। जल ग्राम योजना के तहत गांव में जल प्रबंधन के प्रोजेक्ट को चलाया जाएगा ताकि पानी की उपलब्धता को अहमियत को समझा जा सके। वे हिरमी में जल क्रांति अभियान के अंतर्गत आयोजित एक दिवसीय प्रदेश स्तरीय कार्यशाला को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि प्राकृतिक जल संसाधन घटते जा रहे हैं और जल का दोहन लगातार बढ़ रहा है। जल स्त्रोत घटने एवं जनसंख्या के अनुसार जल की मांग बढ़ने से उचित मात्रा में पानी उपलब्ध नहीं हो पा रहा है। इसलिए पानी को बचाने के लिए प्रबंधन के तरीकों को अपनाना होगा। सिंचाई विभाग के मुख्य अभियंता राजीव बंसल ने कहा कि नीतियां बनती हैं, लेकिन क्रियान्वयन के लिए योजना नहीं बनती हैं। प्रदेश के दर्जनों गांव ऐसे हैं, जहां पर जल की उपलब्धता पर्याप्त मात्रा में नहीं है। विभाग द्वारा योजनाएं बनाई जाती हैं, लेकिन उनकी सफलता आम जनता की भागेदारी सबसे अहम है। उन्होंने कहा कि कृषि क्षेत्र में जल का सबसे ज्यादा दोहन किया जा रहा है। इसको रोकने के लिए फसल चक्र को अपनाने की आवश्यकता है। लगातार जल दोहन से जल स्त्रोत घट रहे हैं, ऐसे में जल संरक्षण एवं प्रबंधन की योजना ही सबसे महत्वूपर्ण है। जल क्रांति अभियान के नोडल अधिकारी एवं सिंधु बेसिन के अधीक्षण अभियंता पी दोर्जे ने कार्यशाला में हिस्सा लेने पहुंचे ग्राम पंचायतों के सरपंच, किसान व ग्राम सचिवों को जल क्रांति योजना के तहत गांव में बनाए जाने वाले प्रोजेक्ट के बारे में विस्तार से बताया। उन्होंने सेमीनार में हिस्सा ले रहे प्रतिभागियों को भूजल की रिचार्जिंग के लिए कार्यक्रम बनाने का भी आह्वान किया। वरिष्ठ कृषि विशेषज्ञ डॉ. ओपी लठवाल ने सेमीनार में हिस्सा लेने पहुंचे प्रतिभागियों को आधुनिक तरीके से जल बचाने के तरीकों से अवगत करवाया। कृषि में सीधी बिजाई से जल बचत पर विस्तार से बताया। फसल चक्र अपनाकर जल संरक्षण एवं जल का उचित उपयोग किया जा सकता है। केंद्रीय जल बोर्ड चंडीगढ़ के साइंटिस्ट एसके सहगल ने किसानों को भूजल की स्थिति एवं जल संरक्षण के बारे में विस्तार से बताया।

पिहोवा। उपमंडल विधिक सेवा प्राधिकरण की तरफ से स्थानीय कोर्ट परिसर में लोक अदालत का आयोजन किया गया। इस लोक अदालत में 34 मामलों का मौक़े पर समाधान किया गया। यह जानकारी देते हुए उपंडल विधिक सेवा प्राधिकरण के चेयरमैन व न्यायाधीश विवेक यादव ने बताया कि लोक अदालत में कुल 167 मामले रखे गए इनमें से 34 मामलों का समाधान किया गया है। इन मामलों में सीआरएल कंपाउंडएबल के दो सिविल के पाँच डीवी एक्ट का एक एक्जीक्यूशन के एक समरी के पाँच केसों में 8000 रुपए के आदेश पारित किए है। उन्होंने बताया कि एनआई एक्ट 138 के तीन तथा अन्य केसों में एक मामले का समाधान किया गया है। उन्होंने बताया कि 20 मार्च को गाँव गढ़ी लांगरी में क़ानूनी साक्षरता शिविर का आयोजन किया जाएगा। इस शिविर के लिए पैनल के अधिवक्ता अनिल बाँगड़ी की ड्यूटी लगाई है।

लोक अदालत में किया 34 मामलों का समाधान 
पिहोवा, 19 मार्च : उपमंडल विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा न्यायालय परिसर में लोक अदालत का आयोजन किया गया। लोक अदालत में 34 मामलों का मौके पर निपटान किया गया। उपमंडल विधिक सेवा प्राधिकरण के चेयरमैन व न्यायाधीश विवेक यादव ने बताया कि लोक अदालत में कुल 167 मामले व शिकायतें आई। इनमें से सभी की सुनवाई की गई, जिनमें से 34 मामलों का मौके पर ही निपटारा किया गया।  इन मामलों में सीआरएल कंपाउंड एबल के दो सिविल के पांच डीवी एक्ट का एक एक्जीक्यूशन के एक समरी के पांच केसों में 8000 रुपये के आदेश पारित किए है। उन्होंने बताया कि एनआई एक्ट 138 के तीन तथा अन्य केसों में एक मामले का समाधान किया गया है। 
20 मार्च को गांव गढ़ी लांगरी में क़ानूनी साक्षरता शिविर का आयोजन किया जाएगा। इस शिविर के लिए पैनल के अधिवक्ता अनिल बाँगड़ी की ड्यूटी लगाई है।

एचएसएसी परीक्षा के दौरान भारी वाहना प्रवेश बंद 
कुरुक्षेत्र, 19 मार्च : उपायुक्त सीजी रजिनिकांतन ने कहा कि हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग पंचकूला द्वारा पीजीटी परीक्षा के दौरान शहर में 20 मार्च को सुबह 7 बजे से लेकर सायं 7 बजे तक भारी वाहनों का प्रवेश पूरी तरह बंद रहेगा। परीक्षा केंद्रों पर धारा-144 लागू रहेगी, जिसके तहत सुरक्षा के भी कड़े प्रबंध किए गए हैं। परीक्षा के दौरान यातायात व्यवस्था बाधित न हो धार-144 सीआरपीसी के तहत भारी वाहनों के प्रवेश पर पूर्ण रूप से प्रतिबंध रहेगा। यदि कोई इसकी अवहेलना करता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। इसके लिए सभी अधिकारियों व विभागाध्यक्षों को सूचित कर दिया गया है ताकि आदेशों का कड़ाई के साथ पालन हो सके।

फोटो समाचार
कोर्ट परिसर के  स्वास्थ्य जांच शिविर में 125 लोगों का किया चैकअप 
कुरुक्षेत्र 19 मार्च - जिला विधिक सेवा प्राधिकरण व स्वास्थ्य विभाग के सहयोग से स्थानीय अदालत परिसर में स्वास्थ्य जांच शिविर का आयोजन किया गया। इस शिविर  का उद्घाटन जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के चेयरमैन तथा जिला एवं सत्र न्यायाधीश अरूण कुमार त्यागी ने किया। 
                 शनिवार को अदालत परिसर में लगाए स्वास्थ्य जांच शिविर में बोलते हुए जिला एवं सत्र न्यायाधीश अरुण कुमार त्यागी ने कहा कि शरीर को स्वस्थ्य रखने के लिए परहेज करना जरूरी है और जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की तरफ से समय समय स्वास्थ्य जांच शिविर का आयोजन निरंतर किया जाएगा। डिप्टी सिविल सर्जन डा. एन पी सिंह ने बताया कि इस शिविर में करीब 125 लोगों के रक्त, ईसीजी,शुगर आदि रोगों का जांच की गई है। ह्दय एवं छाती रोग विशेषज्ञ डा. शैलेंद्र ममंगई शैली ने अपने विचार रखे और कहा कि सिविल सर्जन डा. एस के नैन के दिशानिर्देशानुसार स्वास्थ्य जांच शिविर का आयोजन किया गया है। इस शिविर में नेत्र रोग विशेषज्ञ डा. मुकेश कुमार, डा.अनूप मैहता, डा. सुरेंद्र, डा.आलोक देवी, डा. रीना सहित अन्य चिकित्सक व अधिकारी मौजूद थे।

गीता जयंती अंतर्राष्ट्रीय उत्सव के लिए सरकार उपलब्ध करवाए 20 करोड़ का बजट : सुधा

फोटो समाचार
गीता जयंती अंतर्राष्ट्रीय उत्सव के लिए सरकार उपलब्ध करवाए 20 करोड़ का बजट : सुधा
थानेसर विधायक सुभाष सुधा ने कुरु
क्षेत्र के पर्यटन, धार्मिक परियोजनाओं को रखा सदन में, मोहन नगर फ्लाई ओवर से रेलवे स्टेशन की तरफ फ्लाई ओवर उतारने का रखा मुद्दा, कुरुक्षेत्र में निवेश के अवसर प्रदान करने की भी रखी मांग

कुरुक्षेत्र 18 मार्च - थानेसर विधायक सुभाष सुधा ने विधानसभा सत्र के पटल पर जहां कुरुक्षेत्र की सडक़ों, पर्यटन स्थलों, धार्मिक स्थलों, एजुकेशन हब बनाने, कुरुक्षेत्र में निवेशकों को आमंत्रित करने जैसे मुद्दों को रखा, वहीं गीता जयंती उत्सव को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर मनाने के लिए कुरुक्षेत्र विकास बोर्ड को अतिरिक्त 20 करोड़ रुपए का बजट मुहैया करवाने की बात को रखा है।
थानेसर विधायक सुभाष सुधा ने वीरवार को विधानसभा सत्र में हल्कावासियों की आवाज को बुलंद करते हुए कहा कि राज्य सरकार ने इस वर्ष एक नवम्बर से हरियाणा की स्वर्ण जयंती बड़े पैमाने पर मनाने की योजना बनाई है। सरकार ने राज्य में विकास की लहर हर क्षेत्र व हर नागरिक तक पहुंचाने की योजना बनाई, जिसमें सबका साथ सबका विकास का नारा सार्थक होता हुआ नजर आ रहा है। हर जिले में महिला थाने, महिला कालेज बनाने का निर्णय लिया, गांवों में पंच, सरपंच, जिला परिषद सदस्य व ब्लाक समिति सदस्य पढ़े लिखे बने। इतना ही नहीं, आदर्श ग्राम योजना के तहत गांवों को गोद लेकर विकास करने की योजना को अमलीजामा पहनाने का काम किया। 
उन्होंने सदन में अभी हाल ही में असामाजिक तत्वों द्वारा कई व्यापारियों के व्यवसाय को नष्ट करने का काम किया। कई व्यापारी अब अपना व्यवसाय दोबारा करने में भी समर्थ नहीं है। इसलिए सरकार को ऐसे व्यापारियों को सरकारी नौकरी उपलब्ध करवानी चाहिए और प्रदेश में भाईचारे की भावना कायम रखने का सबको प्रयास करना चाहिए। विधायक ने कहा कि सरकार ने सरस्वती नदी के जीर्णोद्धार व सरंक्षण के लिए हरियाणा सरस्वती धरोहर विकास बोर्ड का गठन किया और इस वर्ष गीता जयंती को प्रदेश के प्रत्येक जिलास्तर पर मनाया गया। इस समारोह ने पिछले 36 वर्षों का रिकार्ड तोड़ा। उन्होंने कुरुक्षेत्र के थानेसर हल्के के लोगों की मांगों को रखते हुए कहा कि सरकार ने मुख्य सडक़ों व गांवों की सडक़ों की मुरम्मत करने के लिए 1560 करोड़ रुपए का बजट मुहैया करवाया है। इसके बावजूद कुुरुक्षेत्र की धार्मिक और ऐतिहासिक महतता को देखते हुए और लगातार पनप रही यातायात की समस्या के समाधान के लिए थानेसर में लगभग 15 किलोमीटर लम्बा बाईपास बनाने की आवश्यकता है। 
विधायक ने मोहन नगर से थानेसर शहर की तरफ फ्लाई ओवर की बाईं तरफ रेलवे स्टेशन की तरफ एक लेग एक्सटेंशन बनाने, शहर की मुख्य सडक़ पिपली से ज्योतिसर तक का नवीनीकरण व चौड़ा करने, गीता जयंती को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर मनाने के लिए 20 करोड़ रुपए का बजट, कुरुक्षेत्र के प्रचार-प्रसार के लिए एफएम रेडियो व टीवी द्वारा प्रमोशन करने, कुरुक्षेत्र भ्रमण के लिए मिनी बस चलाने, शहर के अंदर स्टील बेस्ड बस शैल्टर बनाने, शहर में दोनो बस स्टैंड का नवीनीकरण करने, कुरुक्षेत्र पर्यटन की दृष्टि से स्पैशल वोल्वो बस की शुरूआत दिल्ली से कुरुक्षेत्र व कुरुक्षेत्र से चंडीगढ़ की जाए, कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय के यूनिवर्सिटी कालेज को विभाग का दर्जा देने, सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट, सोलिड वेस्ट मैनेजमेंट प्लांट जैसी अनेक मांगों को सदन के समक्ष रखा। 
बॉक्स
कुरुक्षेत्र में इंटरनेशनल साईकलिंग स्टेडियम की जरुरत
विधायक सुभाष सुधा ने विधानसभा के समक्ष कुरुक्षेत्र में अंतर्राष्ट्रीय स्तर का साईकलिंग स्टेडियम को बनाने की मांग को रखते हुए कहा कि हॉकी खिलाडिय़ों के लिए कुरुक्षेत्र में नया एस्ट्रोट्रफ भी लगाया जाना जरूरी है। 
बॉक्स
कुरुक्षेत्र में निवेशकों को किया जाए आमंत्रित
विधायक ने कहा कि 7 व 8 मार्च को गुडग़ांव में हैपनिंग हरियाणा ग्लोबल इन्वेस्टर मीट में विदेशी व भारतीय निवेशकों ने भाग लिया और करीब 6 लाख करोड़ का निवेश करने के समझौते हुए। उन्होंने सरकार से आग्रह किया कि कुरुक्षेत्र निवेश की दृष्टि से पिछड़ा हुआ जिल है। इसलिए यहां पर बड़े पैमाने पर निवेशके अवसर प्रदान किए जााने चाहिए।

फोटो समाचार
जाट आरक्षण को लेकर प्रशासन ने चौकस किया पुलिस व अधिकारियों को
आम लोगों की जान-माल की सुरक्षा व शांति बनाए रखना प्रशासन का लक्ष्य, विभागीय अधिकारी सरकारी सम्पत्ति का रखें ध्यान, जिलाधीश ने नियुक्त किए 9 डयूटी मैजिस्ट्रेट

कुरुक्षेत्र 18 मार्च -  उपायुक्त सीजी रजिनिकांतन ने जाट आरक्षण आंदोलन के दोबारा होने की संभावना को ध्यान में रखते हुए पुलिस प्रशासन और तमाम अधिकारियों को मुस्तैद रहने के आदेश दिए हैं। इतना ही नहीं, 9 अधिकारियों को डयूटी मैजिस्ट्रेट भी नियुक्त किया है और सभी थाना अध्यक्षों व चौंकी इंचार्ज को डयूटी मैजिस्ट्रेट के साथ तालमेल कर शांति व सुरक्षा व्यवस्था बनाए रखने के निर्देश भी दिए हैं। इन आदेशों की लापरवाही करने वाले अधिकारियों व कर्मचारियों को किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जाएगा। 
उपायुक्त सीजी रजिनिकांतन लघु सचिवालय में जाट आरक्षण के मामले को लेकर सुरक्षा व्यवस्था के प्रबंधों की समीक्षा को लेकर अधिकारियों की एक बैठक को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने अधिकारियों से स्थिति नियंत्रण बारे विचार विमर्श करते हुए कहा कि जिला कुरुक्षेत्र में स्थिति अभी तक सामान्य है। लेकिन गुप्तचर एजेंसियों से मिली रिपोर्ट के आधार पर होली के पर्व पर असामाजिक तत्वों द्वारा दंगा-फसाद फैलाने की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता। इसलिए सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता इंतजाम किए जाने चाहिए। उन्होंने कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार और पुलिस अधीक्षक को विश्वविद्यालय में लड़कियों व लडक़ों के छात्रावास की सुरक्षा व बाहरी हस्तक्षेप रोकने के निर्देश देते हुए कहा कि किसी भी अंवाछनीय घटना की रिपोर्ट तुरंत प्रशासन को दी जाए। प्रशासनिक अधिकारियों से अर्धसैनिक बलों की नियुक्ति के लिए विचार-विमर्श किया गया ताकि जान-माल की सुरक्षा, शांति व्यवस्था व आम लोगों में विश्वास बनाया रखा जा सके। 
उपायुक्त ने राजस्व व पंचायत अधिकारियों को निर्देश दिए कि जाट आरक्षण आंदोलन के दौरान कानून एवं व्यवस्था बनाए रखने के लिए सभी पटवारी, ग्राम सचिव अपने-अपने क्षेत्र में सर्तकता बनाए रखेंगे और किसी भी अप्रिय घटना की सूचना पुलिस प्रशासन व पुलिस कंट्रोल रूम में देना सुनिश्चित करेेंगे। हरियाणा रोडवेज कुरुक्षेत्र के महाप्रबंधक सभी बस अड्डों व वर्कशाप में सुरक्षा के प्रबंध करेंगे। फायर बिग्रेड, एम्बुलेंस व आवश्यक सेवाओं के लिए हाई अलर्ट के आदेश दिए गए हैं। सिविल सर्जन इंडियन मेडीकल ऐसोसिएशन से मेडीकल सेवाओं के सम्बंध में सम्पर्क बनाए रखेंगे। सभी विभागाध्यक्ष अपने अधीनस्थ कार्यालयों व सम्पत्ति की सुरक्षा के लिए स्वयं जिम्मेवार होंगे। जन स्वास्थ्य विभाग, बिजली विभाग व कार्यकारी अभियंता पीडब्ल्यूडी बी एंड आर अपने अपने स्तर पर तमाम व्यवस्था बनाए रखेंगे। इस मौके पर पुलिस अधीक्षक सिमरदीप सिंह, एसडीएम सतबीर कुंडु व अन्य अधिकारी मौजूद थे।
बॉक्स
किन-किन अधिकारियों को नियुक्त किया डयूटी मैजिस्ट्रेट
जिलाधीश सीजी रजिनिकांतन ने जाट नेताओं द्वारा 72 घंटे के अल्टीमेटम की समयावधि समाप्त होने के बाद जिला में असामाजिक तत्वों द्वारा कानून व्यवस्था को बिगाडऩे की संभावना को ध्यान में रखते हुए जिले में शांति व्यवस्था व कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए बीडीपीओ इस्माईलाबाद विकास, नायब तहसीलदार इस्माईलाबाद हवा सिंह पुनिया, तहसीलदार पिहोवा अनिल कुमार, बीडीपीओ लाडवा अंग्रेज सिंह, नायब तहसीलदार बाबैन साहिब सिह, बीडीपीओ शाहाबाद संदीप शर्मा, तहसीलदार शाहाबाद जोगिंद्र सिंह, नायब तहसीलदार लाडवा प्रेमचंद व उप-मुख्य कार्यकारी अधिकारी जिला परिषद ओम प्रकाश को डयूटी मैजिस्ट्रेट नियुक्त किया है। 

राज्यस्तरीय बाढ़ बचाव प्रशिक्षण शिविर 4 अप्रैल से 
कुरुक्षेत्र 18 मार्च - हरियाणा राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग की तरफ से ब्रहमसरोवर पर 4 अप्रैल से 9 अप्रैल तक राज्यस्तरीय बाढ़ बचाव प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया जा रहा है। उपायुक्त सीजी रजिनिकांतन ने बताया कि हरियाणा राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग चंडीगढ़ के वित्तायुक्त एवं प्रधान सचिव के आदेशानुसार पूर्व वर्षों की भांति इस वर्ष भी बाढ़ बचाव प्रशिक्षण शिविर का आयोजन 4 अप्रैल से 9 अप्रैल 2016 तक ब्रहमसरोवर पर किया जा रहा है। इस शिविर के लिए राजस्व विभाग के अधिकारी सभी तैयारियां पूरी करेंगे।

जिलास्तरीय किसान मेला व प्रदर्शनी का राज्यमंत्री कृष्ण बेदी 20 मार्च को करेंंगे उदघाटन
कुरुक्षेत्र 18 मार्च - कृषि विभाग की तरफ से आतमा व फसल विविधिकरण स्कीम के अंतर्गत 20 मार्च को पाल प्लाजा में सुबह 10 बजे किसान मेला और प्रदर्शनी का आयोजन किया जाएगा। इस किसान मेले का उदघाटन प्रदेश के सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्यमंत्री कृष्ण बेदी करेंगे और इस कार्यक्रम की अध्यक्षता थानेसर विधायक सुभाष सुधा करेंगे। 
यह जानकारी देते हुए कृषि विभाग के उपनिदेशक डा. वजीर सिंह ने कहा कि मेला क्षेत्र में विभिन्न विभागों, कृषि मशीनीकरण, बीज एवं दवाईयों की निर्माता कम्पनियों की तरफ से प्रदर्शनी लगाई जाएगी। प्रदर्शनी के लिए पहले आओ-पहले पाओ के आधार पर निशुल्क स्थान उपलब्ध करवाया जाएगा। इसके अलावा प्रदर्शनी में पहुंचने वाले करीब दो हजार किसानों को आमदनी बढ़ाने, पशुधन, बागवानी एवं अन्य गतिविधियों के बारे में जानकारी दी जाएगी।

कुरुक्षेत्र के राष्ट्रीय स्तर के 225 पदक विजेता खिलाडिय़ों को किया जाएगा सम्मानित
कुरुक्षेत्र 18 मार्च - खेल एवं युवा कार्यक्रम विभाग हरियाणा के निदेशानुसार वर्ष 2013-14 व 2014-15  से सम्बंधित जिला कुरुक्षेत्र के राष्ट्रीय स्तर के पदक विजेता खिलाडिय़ों को 23 मार्च को ताऊ देवीलाल स्टेडियम गुडग़ांव में मुख्यमंत्री मनोहर लाल द्वारा सम्मानित किया जाएगा। 
जिला खेल एवं युवा कार्यक्रम अधिकारी वीरेंद्र सिंह ने बताया कि खेल एवं युवा कार्यक्रम विभाग हरियाणा द्वारा निर्णय लिया गया है कि 2013-14 व 2014-15 के राष्ट्रीय स्तर पर विजेता खिलाडिय़ों को मुख्यमंत्री द्वारा ताऊ देवीलाल स्टेडियम गुडग़ांव में सम्मानित किया जाएगा। इस सम्मान समारोह में कुरुक्षेत्र जिले के 225 पदक विजेता खिलाडिय़ों को सम्मानित किया जाना है। इस सम्मान समारोह में 21 मार्च को सायं 4 बजे 138 पदक विजेता खिलाडिय़ों को महामहिम राज्यपाल द्वारा व 87 पदक विजेता खिलाडिय़ों को 23 मार्च को सायं 4 बजे 87 खिलाडिय़ों को मुख्यमंत्री मनोहर लाल द्वारा सम्मानित किया जाएगा। 
उन्होंने बताया कि इस समारोह में भाग लेने के लिए 21 मार्च को सम्मानित होने वाले खिलाडिय़ों को प्रात: 8.30 बजे व 23 मार्च को सम्मानित होने वाले खिलाडिय़ों को प्रात: 8.30 बजे द्रोणाचार्य स्टेडियम कुरुक्षेत्र में पहुंचना होगा। इन खिलाडिय़ों के लिए विभाग द्वारा कुरुक्षेत्र से गुडग़ांव ले जाने व वापिस गुडग़ांव से कुरुक्षेत्र तक लाने की व्यवस्था भी की गई है। 


फोटो समाचार
चैत्र चौदस मेले में आने वाले हर श्रद्धालू की सुरक्षा व्यवस्था का रखा जाएगा विशेष ध्यान : रजिनिकांतन
चैत्र चौदस मेले में लगेगी सरकारी विभागों की तरफ से प्रदर्शनी, भिखारियों के लिए किया जाएगा अलग स्थान निर्धारित, समाजसेवी संस्थाओं व पुराहितों को पहली बार जारी किए जाएंगे पहचान पत्र, मेले की पल-पल की गतिविधियों पर रखेंगे 25 सीसी कैमरे नजर, मेले से पहले और बाद में स्वास्थ्य विभाग करेगा फोगिंग
पिहोवा 18 मार्च - उपायुक्त सीजी रजिनिकांतन ने कहा कि विश्व प्रसिद्ध चैत्र चौदस मेले में देश व प्रदेश के कोने-कोने से आने वाले लाखों श्रद्धालुओं के लिए सुरक्षा और व्यवस्था के पुख्ता इंतजाम किए जाएंगे। इस मेले में तमाम विभागों की तरफ से उपलब्धियों और योजनाओं को लेकर प्रदर्शनी लगाई जाएगी। सुरक्षा एवं व्यवस्था बनाए रखने के लिए जहां भिखारियों के लिए एक अलग स्थल निर्धारित किया जाएगा, वहीं राज पुरोहितों व समाजसेवी संस्थाओं के प्रतिनिधियों को पहचान पत्र भी जारी किए जाएंगे। सरस्वती तीर्थ पर किसी भी भिखारी को भीख मांगने की इजाजत नहीं दी जाएगी। इतना ही नहीं, सरस्वती तीर्थ के सामने बाजार लगाने पर भी पाबंदी रहेगी।  
उपायुक्त शुक्रवार को किसान विश्रामगृह में 5 से 7 अप्रैल तक सरस्वती तीर्थ पर लगने वाले चैत्र चौदस मेले को लेकर अधिकारियों की बैठक को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि मेले में सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता इंतजाम किए जाएंगे। मेले के हर क्षेत्र की पल पल पर निगरानी रखने के लिए 25 सी.सी. कैमरे लगाए जाएंगे। जहां मेले को 8 सैक्टरों में विभाजित किया जाएगा, वहीं शहर के हर प्रवेश द्वार पर पुलिस की नाकाबंदी कर कड़ी निगरानी रखी जाएगी। उन्होंने कहा कि श्रद्धालुओं के लिए पीने के पानी की  उचित व्यवस्था और शौचालयों की व्यवस्था पर विशेष ध्यान दिया जाएगा। सिंचाई विभाग के अधिकारियों को सरस्वती तीर्थ में स्वच्छ जल भरने के आदेश भी दिए है। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी मेले से पहले और मेले के बाद में फोगिंग करवाना सुनिश्चित करेंगे। नगरपालिका के अधिकारी मेले से पहले और मेले के सात दिन बाद तक सफाई कर्मचारियों से सफाई व्यवस्था दुरुस्त करवाना सुनिश्चित करेंगे। उन्होंने कहा कि शहर के मुख्य सडक़ से अतिक्रमण हटाने ओर क्षेत्र में अवैध शराब की ब्रिकी बंद करवाने के लिए पुलिस को विशेष आदेश दिए हैं। उन्होंने मेले के दौरान बिजली की निंरतर सप्लाई के इंतजाम करने के लिए बिजली विभाग के अधिकारियों को आदेश दिए हैं। इस मौके पर अतिरिक्त उपायुक्त प्रभजोत सिंह, मेला प्रशासक एवं एसडीएम शाहाबाद हवा सिंह, डीएसपी चंद्रपाल, जिला पंचायत विकास अधिकारी कपिल शर्मा, जिला राजस्व अधिकारी अशोक मलिक, नगरपालिका सचिव निर्मल प्रकाश, तहसीलदार पिहोवा अनिल कुमार सहित समाजसेवी युधिष्ठिर बहल, रामधारी शर्मा व सचिन मित्तल सहित सामाजिक व धार्मिक संस्थाओं के प्रतिनिधि उपस्थित थे।
बाक्स
गोताखोरों के नाम और मोबाइल नम्बर किए जाएंगे अंकित
सरस्वती तीर्थ में किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए गोताखोरों की नियुक्ति की जाएगी। गोताखोरों को जैकेट मुहैया करवाई जाएगी और अलग काऊंटर भी दिया जाएगा। इस काऊंटर पर गोताखोरों के नाम व मोबाइल नम्बर अंकित किए जाएंगे। हालांकि गोताखोर 24 घंटे काऊंटर पर तैनात रहेंगे। मेले के दौरान आग आदि आपातकालीन स्थिति से निटापने के लिए फायर ब्रिगेड की 5 गाडिय़ों की व्यवस्था की जाएगी। इसके अलावा सरस्वती घाट के दोनों तरफ गहरे पानी से बचाव करने के लिए 2 किश्तियां, लाइफ जैकेट व चप्पू का प्रबंध किया जाएगा। इसके अलावा सरस्वती तट पर चेतावनी सूचना पट भी लगाए जाएंगे। 
बॉक्स
8 फस्र्ट एड पोस्ट व 5 एंबुलैंस करेगी सेवा 
स्वास्थ्य विभाग की तरफ से किसी भी अप्रिया घटना से निपटने ओर अचानक बीमार यात्रियों को स्वास्थ्य सेवाएं मुहैया करवाने के लिए 8 फस्र्ट एड पोस्ट, 2 आयुर्वेदिक पोस्ट, 5 एंबुलैंस का प्रबंध किया जाएगा। मेले से पहले पूरे शहर में दवाईयों का छिडक़ाव भी किया जाएगा। 
बॉक्स
600 पुलिस कर्मचारी रखेंगे सुरक्षा व्यवस्था पर नजर 
चैत्र चौदस मेले में सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता इंतजाम करने के लिए करीब 600 पुलिस जवान, होम गार्ड तैनात रहेंगे। इनमें 100 महिला पुलिस कर्मचारियों की भी नियुक्ति की जाएगी। मेला क्षेत्र के 8 सैक्टरों में डयूटी मैजिस्टे्रट व सैक्टर अधिकारी नियुक्त किए जाएंगे। विभिन्न दिशाओं में 5 पुलिस चैक पोस्ट भी लगाए जाएंगे। 
बॉक्स
मेला ग्राऊंड में बनेगा मनोरंजन स्थल    
गुहला रोड पर हुड्डा की खाली जमीन पर मेला ग्राऊंड बनाया गया है। इस ग्रांऊड में ही सर्कस, झूला व अन्य स्टाल लगाने की व्यवस्था की गई है ताकि लोग एक ही स्थान पर मनोरंजन के साधनों का फायदा उठा सके। इस स्थल पर पुलिस व्यवस्था के भी पुख्ता इंतजाम रहेंगे। 
बॉक्स
100 अतिरिक्त सफाई क र्मचारियों की लगेगी डयूटी 
शहर में सफाई व्यवस्था का पूर्ण प्रबंध नगर पालिका द्वारा किया जाएगा। मेला को लेकर सफाई व्यवस्था को दुरूस्त रखने के लिए 100 अतिरिक्त सफाई कर्मचारी नियुक्त किए जाएंगे। इसके अलावा स्थाई कर्मचारी भी अपनी डयूटी का निर्वाह करेंगे। 
बॉक्स
5 जगहों पर बनेंगे पार्किंग स्थल
उपायुक्त ने कहा कि कैथल रोड, अम्बाला रोड, गुलडेरा, पटियाला रोड व कुरुक्षेत्र रोड पर पार्किंग स्थल बनाए जाएंगे। पार्किंग का टैंडर दिया जाएगा। ठेकेदारों को हिदायत दी जाएगी कि केवल उन्हीं वाहनों से पार्किंग शुल्क वसूल किया जाए जो केवल पार्किंग स्थल पर ही खडे होंगे। सडक़ पर आने-जाने वालों से पार्किंग शुल्क नहीं वसूल किया जाएगा और न ही उनको परेशान किया जाएगा। 
बॉक्स
विभागों की प्रदर्शनी रहेगी आकर्षण का केंद्र
उपायुक्त  ने कहा कि इस बार मेले में पहली बार महिला एवं बाल विकास विभाग की तरफ से बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ, केडीबी, श्रीकृष्ण संग्रहालय, कृषि विभाग के साथ-साथ अन्य विभागों की तरफ से प्रदर्शनियां भी लगाई जाएंगी।

फोटो समाचार
पिहोवा 18 मार्च - बेटियां कल की माँए हैं, मिले मुश्किल से माँ, इतनी कम न हों बेटियां। कुछ इस तरह का दर्द महिला एवं बाल विकास विभाग की कार्यक्रम अधिकारी गुरविंद्र कौर मल्ली के मुख से उभरा, जब पंच, सरपंचों एवं आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को सम्बोधित कर रही थी। आज बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ के खंड स्तरीय कार्यक्रम में पिहोवा के खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी सभागार में यह कार्यक्रम आयोजित हुआ। 
उन्होंने आहवान किया कि क्षेत्र की जनता बेटियों को जीने का अधिकार एवं लालन-पालन तथा पूरा प्यार दें क्येांकि बेटियां हीरे से कम अनमोल नहीं होतीं।  22 जनवरी 2015 से बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ, आपकी बेटी हमारी बेटी एवं कन्या समृद्धि योजना की एक साथ शुरूआत हुई, जिससे सरकार ने यह साफ संकेत दे दिया है कि अब कन्या को जन्म से लेकर पढ़ाई एवं उसकी शादी तक हर प्रकार का आर्थिक सहयोग सरकार द्वारा प्रदान किया जाएगा। उन्होंने यह भी याद दिलाया कि लाडलियों के मान-सम्मान को बढ़ाने के लिए स्कूलों में मेरा लक्ष्य मेरा उद्देश्य जैसी स्कीम शुरू की गई है। गणतंत्र दिवस एवं स्वतंत्रता दिवस जैसे समारोह में गांव की सबसे पढ़ी लिखी लडक़ी झंडा फहराएगी आदि अनेक योजनाएं कन्या के हित के लिए शुरू की गई हैं। 
उन्होंने कहा कि हालांकि जो भी कल्याणकारी योजनाएं सरकार द्वारा बनाई जाती हैं, उन्हें धरातल पर लाने के लिए आम जनता का सहयोग आपेक्षित है। प्रदेश सरकार द्वारा पंचायत के प्रतिनिधियों को शिक्षित होना जरूरी कर यह साफ संदेश दे दिया है कि भविष्य में अंगूठा टेक व्यक्ति मिलता बहुत दूर की बात होगी। इस अवसर पर पशुपालन विभाग के एसडीओ जय नारायण शर्मा, जिला मत्स्य अधिकारी ईश्वर सिंह, समाज कल्याण विभाग से वीरेंद्र सिंह, कृषि विभाग से नरेश कुमार, सीडीपीओ नीतू ने भी अपने विचार रखे। अंत में जिला विकास एवं पचंायत अधिकारी कपिल शर्मा ने भी आए हुए प्रतिनिधियों को सम्बोधित कर उन्हें धन्यवाद दिया। इस मौके पर राजा अजीत सिंह मेमोरियल ट्रस्ट के प्रतिनिधि सरदार लखविंद्र सिंह ग्रेवाल ने भी प्रतिनिधियों को सम्बोधित किया।

ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों से आत्मसात करने का लोकगीत सशक्त माध्यम : बालकिशन

फोटो समाचार
ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों से आत्मसात करने का लोकगीत सशक्त माध्यम : बालकिशन
रंगमंच से ही जोड़ा जा सकता है आमजन की भावनाओं को, राज्यस्तरीय कार्यशाला के चौथे दिन कलाकारों को दिए नाटक बनाने के टिप्स

कुरुक्षेत्र 17 मार्च - हरियाणा के प्रसिद्ध लोक कलाकार बालकिशन जुआ ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों से मन की बात कहने का लोकगीत और लोक संगीत सबसे सशक्त माध्यम है।  इसलिए कलाकारों को लोकगीत और संगीत में परम्परा के साथ नयेपन को जोडऩा होगा। 
       वे वीरवार को मल्टी आर्ट कल्चरल सेंटर में सूचना, जन सम्पर्क एवं सांस्कृतिक कार्य विभाग की तरफ से आयोजित राज्यस्तरीय कार्यशाला के चौथे दिन बतौर मुख्य वक्ता के रूप में बोल रहे थे। उन्होंने प्रदेश भर से आए लोक कलाकारों को रागनी, लोकगीत, संगीत और बेहतरीन धुन तैयार करने का व्यवहारिक ज्ञान देने के साथ-साथ विभिन्न प्रकार की रागनियों को गा कर बताने का प्रयास किया और कहा कि लोक कलाकारों को हमेशा रियाज़ करते रहना चाहिए और हरियाणा प्रदेश की पारम्परिक संस्कृति को नये परिवेश के साथ जोडक़र प्रस्तुत करने का प्रयास करना चाहिए। उन्होंने करीब दो घंटे से ज्यादा लोकगीतों पर कलाकारों से विस्तृत चर्चा करने के बाद कहा कि सरकार की नीतियों को आमजन तक पहुंचाने का सबसे सशक्त माध्यम केवल लोक कलाकार ही हैं। जो काम अधिकारी, कर्मचारी, समाचार पत्र, प्रचार तंत्र के नये माध्यम नहीं कर सकते, वह काम केवल लोक कलाकार ही करने में सक्षम हैं। 
कार्यशाला के दूसरे व तीसरे सत्र में मंथन थियेटर ग्रुप के निर्देशक उमा शंकर ने लोक कलाकारों को रंगमंच की बारीकियों से रूबरू करवाते हुए कहा कि आमजन की भावनाओं को अपने साथ जोडऩे के लिए नाटक और अभिनय सबसे बेहतर माध्यम है। सबसे पहले नाटक का विषय उद्देश्यपूर्ण होना चाहिए और नाटक में पात्रों को अपने-अपने रोल का ज्ञान और प्रस्तुतिकरण के बारे में जानकारी होनी चाहिए। जब तक कलाकार पात्र के रंग में नहीं रंगता, तब तक मंच पर कोई भी कलाकार बेहतर तरीके से प्रस्तुति नहीं कर पाएगा। इसलिए कलाकार को पात्र की भूमिका में पूरी तरह डूबना होगा और अपनी प्रस्तुति देनी होगी। उन्होंने कलाकारों को नाटक व अभिनय का व्यवहारिक ज्ञान भी दिया। इस कार्यशाला में गीतकार मांगे राम खत्री ने कलाकारों को नये लोकगीत व नई धुन बनाने की बारीकियों के बारे में बताया। 
कार्यशाला के संयोजक एआईपीआरओ डा. नरेंद्र सिंह ने बताया कि 14 मार्च से चल रही कार्यशाला का शुक्रवार को दोपहर बाद समापन होगा। इस कार्यशाला में सात जिलों के 50 से ज्यादा कलाकारों ने प्रशिक्षण प्राप्त किया है। इस मौके पर जिला सूचना एवं जन सम्पर्क अधिकारी सुनील कुमार भी मौजूद थे। 

एचएसएससी की परीक्षा को शांतिपूर्ण ढंग से सम्पन्न करवाने की तैयारियां पूरी : प्रभजोत
20 मार्च को प्रात: व सायं के सत्रों में होगी लिखित परीक्षा, सुबह के सत्र के लिए 24 व सायं के सत्र के लिए बनाए 16 परीक्षा केन्द्र, एडीसी ने परीक्षा की तैयारियों को लेकर अधिकारियों को दिए दिशा-निर्देश

कुरुक्षेत्र 17 मार्च - अतिरिक्त उपायुक्त प्रभजोत सिंह ने कहा कि हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग की 20 मार्च को सुबह व सायं के सत्र में पीजीटी राजनीति शास्त्र व अर्थशास्त्र की लिखित परीक्षा को शांतिपूर्ण ढंग से सम्पन्न करवाने के लिए प्रशासन ने अपने स्तर पर सभी तैयारियां पूरी कर ली हैं। इन परीक्षाओं को लेकर सुबह के सत्र में 24 और सायं के सत्र में 16 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। इतना ही नहीं, प्रशासन ने इन परीक्षा केंद्रों पर 6 डयूटी मैजिस्ट्रेट भी नियुक्त किए हैं।
वे वीरवार को लघु सचिवालय के सभागार में एचएसएससी की परीक्षाओं की तैयारियों की समीक्षा को लेकर परीक्षा केंद्र के अधिकारियों व उडऩदस्तों के सदस्यों की एक बैठक को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग के आदेशानुसार 20 मार्च को होने वाली परीक्षा सुबह व सायं के सत्र के लिए परीक्षा केंद्रों पर अधिकारियों व कर्मचारियों की डयूटी लगा दी गई है और परीक्षा केंद्रों के बाहर सुरक्षा व्यवस्था के लिए पर्याप्त मात्रा में पुलिस बल भी नियुक्त करने के निर्देश दिए गए हैं। इन परीक्षाओं के लिए प्रशासन की तरफ से एसडीएम थानेसर सतबीर कुंडु को नोडल अधिकारी नियुक्त किया है। उन्होंने कहा कि सभी अधिकारी इन परीक्षाओं को नकल रहित व शंातिपूर्ण ढंग से सम्पन्न करवाने के प्रयास करेंगे। इस मामले को सभी अधिकारी गंभीरता से लेंगे और किसी प्रकार की लापरवाही सहन नहीं की जाएगी। 
एचएसएससी के सचिव राजीव डूडेजा ने परीक्षाओं के लिए आवश्यक दिशा निर्देश देते हुए कहा कि विद्यार्थियों से सम्बंधित सभी जरूरी सूचनाएं परीक्षा केंद्र के सूचना पट पर चस्पाई जाएंगी। फ्लाईंग स्क्वैड परीक्षा केंद्रों तक जरूरी दस्तावेज पहुंचाने व ले जाने का काम करेंगे। चार परीक्षा केंद्रों पर एक उडऩदस्ते को नियुक्त किया गया है। सभी परीक्षा केंद्रों के अधीक्षक अपने-अपने परीक्षा केंद्रों में 19 मार्च तक सभी प्रकार की तैयारियां पूरी करना सुनिश्चित करेेंगे। प्रत्येक परीक्षा केंद्र पर एचएसएससी के अधिकारी सहायता के लिए उपलब्ध रहेंगे। पुलिस के अधिकारी व कर्मचारी समय रहते परीक्षा केंद्रों पर पहुंचना सुनिश्चित करेेंगे।
उन्होंने कहा कि किसी भी परीक्षार्थी को एडमिट कार्ड और पहचान पत्र ही ले जाने की इजाजत दी जाएगी। इसके अलावा परीक्षा खत्म होने से पहले डयूटी देने वाले अधिकारी नियमों की पालना करते हुए विद्यार्थियों को केवल प्रश्र पत्र और विद्यार्थी की प्रति ही ले जाने की अनुमति देंगे और कक्षा में भी निर्धारित संख्या में ही विद्यार्थियों के बैठने की व्यवस्था करेंगे। इस बैठक में एसडीएम सतबीर कुंडु व डीएसपी नुपुर बिश्नोई ने भी कुछ आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। इस मौके पर डीएसपी रमेश गुलिया, डीआरओ अशोक मलिक, जिला शिक्षा अधिकारी सुमन आर्य, डीआईपीआरओ सुनील कुमार सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे। 

बॉक्स
हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग की परीक्षा को लेकर धारा-144 लागू

जिलाधीश एवं  उपायुक्त सीजी रजिनिकांतन ने हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग द्वारा राजनीति शास्त्र व अर्थशास्त्र (पीजीटी)के शिक्षकों की नियुक्ति के लिए 20 मार्च 2016 को होने वाली लिखित परीक्षा को सुचारू रूप से सम्पन्न करवाने के लिए जिला कुरुक्षेत्र के सभी परीक्षा केंद्रों की 200 मीटर की परिधि में धारा-144 लगाने के आदेश जारी किए गए हैं। जिलाधीश ने जारी आदेशों में कहा है कि 20 मार्च को सुबह 10 बजे से लेकर सायं 5 बजे तक पीजीटी की परीक्षा को लेकर धारा-144 लागू की गई है। कोई भी व्यक्ति परीक्षा केंद्रों के 200 मीटर के दायरे में मोबाइल फोन, हथियार, वाई-फाई डिवाईस नहीं ले जा पाएगा। इतना ही नहीं, परीक्षा केंद्रों के आस-पास 20 मार्च को दुकानदार अपनी फोटोस्टेट की मशीन भी बंद रखेंगे। जो भी व्यक्ति इन आदेशों की अवहेलना करेगा, उसके खिलाफ आईपीसी की धारा-188 के तहत कार्रवाई की जाएगी। 

फोटो समाचार
कुरुक्षेत्र 17 मार्च - कुरुक्षेत्र के आमजन को चाहिए कि विश्व के मानचित्र पर पर्यटन में अग्रणीय अपने जिले के लडक़ा-लडक़ी लिंगानुपात को बराबरी पर लाकर भारत में नम्बर एक जिला बनाएं क्योंकि बड़े खेद की बात है कि आय में कुरुक्षेत्र जिला अग्रणीय है जबकि लिंगानुपात में पिछड़ा हुआ है। 
यह विचार जिला उपायुक्त सीजी रजिनिकांतन ने वीरवार को पंचायत भवन के सभागार में व्यक्त किए जोकि महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा खंड स्तर के बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ पंच सरपंच सम्मेलन में बतौर मुख्य अतिथि शिरकत कर रहे थे। उन्होनें कहा कि बेटा बड़ा होकर नशेबाज एवं क्रीमिनल बन जाता है, जबकि बेटी जितनी बड़ी होती है, उतनी ही समझदार व संस्कारी बनती है और जिम्मेदारी अपने आप समझने लगती है। जिस तरह पानी की निकासी न होने से तथा कूड़ा कचरा कुछ लोगों के इधर-उधर फैंकने से बीमारी का प्रकोप सारे गांव को झेलना पड़ता है, उसी तरह कुछ लोग जो लडक़ा-लडक़ी में फर्क समझते हैं की तुच्छ सोच के कारण सारे समाज को शर्मसार होना पड़ता है। 
उपायुक्त ने कहा कि हरियाणा प्रदेश की सभी पंचायतें शिक्षित हैं। इस मिशन में जी-जान से जुट जाएं। जिस पंचायत के अच्छे परिणाम आएंगे, उस पंचायत को जिला प्रशासन द्वारा सम्मानित किया जाएगा और जो पंचायत इस मिशन में लगन से काम नहीं करेंगी तथा परिणाम अच्छे नहीं होंगे तो उन्हें दंडित भी किया जाएगा। उन्होंने जिला की महिलाओं से आहवान किया कि वे 33 फीसदी आरक्षण की बजाय 100 फीसदी बेटियों के जन्म का अधिकार सुनिश्चित करें। इस अवसर पर बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान की जिला कुरुक्षेत्र की रोल मॉडल प्रो. संतोष दहिया ने बेटियों पर आधारित एक कविता प्रस्तुत की। जिला कार्यक्रम अधिकारी गुरविंद्र कौर मल्ली, हरियाणा बिजली वितरण निगम के उप-मंडल अधिकारी गौरव लोहचब, जन स्वास्थ्य विभाग के उपमंडल अधिकारी जयपाल सांगवान, शिक्षा विभाग से प्रिंसीपल भजन लाल, स्वास्थ्य विभाग से डा. आरके सहाय एवं डा. सतविंद्र आदि ने भी इस सम्मेलन में अपने-अपने विभाग की तरफ से सभी पंचायतों को जानकारी दी।

फोटो समाचार
एचआईवी का अस्पतालों में निशुल्क उचित उपचार उपलब्ध है : प्रभजोत
एचआईवी की रोकथाम के लिए लोगों को जागरुक करना जरूरी, एडीसी ने ली जिला टास्क फोर्स की बैठक

कुरुक्षेत्र 17 मार्च - अतिरिक्त उपायुक्त प्रभजोत सिंह ने कहा कि एडस की रोकथाम के लिए लोगों को जागरुक करना बहुत जरूरी है। इस बीमारी के संक्रमण होने पर समय रहते जिला अस्पतालों में मुफ्त उचित उपचार करवाया जाना चाहिए।    वे वीरवार को देर सायं लघु सचिवालय के सभागार में जिला टास्क फोर्स की बैठक को सम्बोधित कर रहे थे। 
उन्होंने एडस की रोकथाम पर बोलते हुए कहा कि रोकथाम के लिए केवल जांच किए हुए रक्त व उत्पादों का प्रयोग करें। केवल सरकार द्वारा लाईसेंस प्राप्त ब्लड बैंकों से ही रक्त लें। केवल नई संक्रमण रहित सीरिंज और सुईयों का ही प्रयोग करें। यह माता से बच्चे में न फैलने पाए, इसकी रोकथाम के लिए उपलब्ध सेवाओं का प्रयोग करें। उन्होंने कहा कि एचआईवी संक्रमित व्यक्ति को छूने से, हाथ मिलाने या उसे गले लगाने से नहीं फैलता है। इसलिए संक्रमित व्यक्ति से घृणा नहीं करनी चाहिए। डिप्टी सिविल सर्जन डा. मधु शर्मा ने कहा कि एचआईवी मच्छरों के काटने से, एचआईवी संक्रमित व्यक्ति के बर्तनों, कपड़ों का प्रयोग करने से व साथ भोजन करने से नहीं फैलता है। इसके अलावा किसी संक्रमित व्यक्ति द्वारा प्रयोग किए गए कम्प्यूटर, टेलीफोल अथवा दूसरे उपकरणों का उपयोग करने से भी नहीं फैलता। डिप्टी सिविल सर्जन डा. केके शर्मा ने कहा कि जिला कुरुक्षेत्र में एचआईवी काऊंसलिंग के लिए  पांच सेंटर बनाए गए हैं। इन काऊंसलिंग सेंटरों पर निशुल्क जानकारी मुहैया करवाई जा रही है। 
उन्होंने कहा कि एडस की पहचान कुछ प्रमुख लक्ष्णों से की जा सकती है, जिनमें 6 महीने में शरीर का 10 प्रतिशत वजन कम होना, महीने भर से अधिक बुखार का होना और अधिक समय तक डायरिया बने रहना, महीने से अधिक समय तक लगातार खांसी आना, त्वचा में बार-बार खुजली होना, मुंह और गले में छाले आना इत्यादि शामिल हैं। इस मौके पर डीएसपी कृष्ण कुमार, डीआरओ अशोक मलिक, डीईओ सुमन आर्य, पीओ गुरविंद्र कौर मल्ली, डा. एनपी सिंह, रैडक्रास सचिव कुलबीर मलिक, एडीए सुरेश कुमार व डा. मलकीत सिंह सहित स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी उपस्थित थे।

जल क्रंाति अभियान पर राज्य स्तरीय कार्यशाला हिरमी में 19 मार्च को
कुरुक्षेत्र 17 मार्च - भारत सरकार के जल संसाधन, नदी विकास और गंगा पूर्णोद्धार मंत्रालय की तरफ से जल क्रंाति अभियान के तहत हिरमी के सभागार में 19 मार्च को एक राज्यस्तरीय कार्यशाला का आयोजन किया जा रहा हैं। इस कार्यशाला के मुख्यातिथि हरियाणा सिंचाई विभाग के इंजीनियर इन चीफ अनिल कुमार गुप्ता होंगे। इस सैमिनार में सिंचाई विभाग, कृषि, बागवानी, मतस्य, पशुपालन, नाबाडऱ्, नेहरु युवा विकास मंडल, वन, शिक्षा, बैंक इत्यादि विभाागों के प्रतिनिधि भाग लेंगे। यह जानकारी जल क्रांति अभियान के नोडल अधिकारी पीडी ज्ञांबा ने दी हैं।

संवाद, पात्र, गीत व संगीत और अभिनय के मिलन से ही बनेगा प्रभावी नाटक : अशोक

फोटो समाचार
संवाद, पात्र, गीत व संगीत और अभिनय के मिलन से ही बनेगा प्रभावी नाटक : अशोक
अभिनय को केवल एक्टिंग न समझें कलाकार, पांच दिवसीय कार्यशाला में कलाकारों को दिए नाटक और अभिनय के टिप्स
कुरुक्षेत्र 16 मार्च - कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय संगीत विभाग के सहायक प्रोफेसर डा. अशोक शर्मा ने कहा कि संवाद, पात्र, गीत, संगीत और अभिनय को मिलाकर ही नाटक को प्रभावशाली बनाया जा सकता है। नाटक के साथ लोगों को जोडऩे के लिए कलाकार को इन तथ्यों पर ध्यान देना होगा और निरंतर प्रयास करना होगा। वे बुधवार को सूचना, जन सम्पर्क एवं सांस्कृतिक कार्य विभाग की तरफ से मल्टी आर्ट कल्चरल सेंटर में आयोजित राज्यस्तरीय ड्रामा पार्टी कलाकारों की कार्यशाला में तीसरे दिन मुख्य वक्ता के रूप में बोल रहे थे। 
उन्होंने कहा कि किसी घटना को सोचने और उसकी तह तक जाने के बाद जब व्यक्ति घटना को शब्दों, रागों और अभिनय में ढालता है, तो एक नाटक तैयार होता है। अभिनय को केवल एक्टिंग से ही नहीं जोडऩा चाहिए। नाटक को लोगों की भावनाओं के साथ जोडक़र तैयार करना चाहिए। नाटक का थीम किसी सकारात्मक विषय पर ही तैयार किया जाना चाहिए। नाटक लोगों का मनोरंजन करने के साथ संदेश देने वाला होना चाहि

ए। नाटक में नैतिक मूल्यों, सामाजिक दायित्व का भी समावेश करना जरूरी है। समाज में परिवर्तन लाने के लिए कविता, कहानी और संवाद ही सबसे सशक्त माध्यम है। इसलिए नाटक की रचना करते हुए तमाम विषयों के ताने-बाने को जोडऩा चाहिए। 
उन्होंने यह भी कहा कि संगीत के बिना नाटक को प्रभावशाली नहीं बनाया जा सकता। लोक कलाकारों को अपने सीमित साधनों का प्रयोग करते हुए नाटक के पात्रों, संगीत, गीत और विषय सामग्री से बेहतरीन प्रस्तुति करने का प्रयास करना होगा। इस दौरान विश्वविद्यालय के छात्र श्याम और दीपक ने भी रागनियां प्रस्तुत कर सभी लोक कलाकारों को भाव-विभोर कर दिया। इन कलाकारों का साथ सोनीपत से ड्रामा इंस्पेक्टर सुलेख कुमार ने दिया। कार्यशाला के दूसरे सत्र में कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय से संगीत विभाग के शिक्षक डा. प्रेम ने हरियाणवी लोक गीत, संगीत और धुनों पर बेहतरीन प्रस्तुति देकर लोक कलाकारों को गीत, संगीत की बारिकीयों से रूबरू करवाने के साथ आमजन को गीत और नाटकों के साथ जोडऩे के मानवीय और संवेदनशील पहलुओं पर न केवल चर्चा की, बल्कि लोकगीतों की प्रस्तुति कर व्यवहारिक ज्ञान देने का भी प्रयास किया। 
कार्यशाला के अंतिम सत्र में मंथन नाटक ग्रुप अम्बाला के निर्देशक उमा शंकर ने नाटक व अभिनय पर विस्तृत प्रकाश डालते हुए कहा कि नाटकों को प्रभावशाली बनाने के लिए दर्शकों की चाहत का सबसे ज्यादा ध्यान रखना होगा। नाटकों को तैयार करने से पहले लोक कलाकारों को अच्छी तरह से सोचना होगा व मंथन करना होगा। नाटक ही एक ऐसा माध्यम है जो लोगों को न केवल सामाजिक कुरीतियों के प्रति जागरुक करने का सबसे सहज तरीका है, अपितु सरकार की नीतियों और योजनाओं को भी आमजन के सामने प्रस्तुत करने का बेहतरीन माध्यम है। इस कार्यशाला के प्रत्येक सत्र में गीतकार मांगे राम खत्री ने कलाकारों को नये नाटक और गीत तैयार करने की बारीकियों के बारे में विस्तार से बताया। इस मौके पर जिला सूचना एवं जन सम्पर्क अधिकारी सुनील कुमार, एआईपीआरओ डा. नरेंद्र सिंह आदि मौजूद थे।
बॉक्स
लोकगीतों को संयोजने के लिए प्रयास कर रहा है विभाग : सैनी
सूचना, जन सम्पर्क एवं सांस्कृतिक कार्य विभाग के संयुक्त निदेशक (क्षेत्र) डा. कुलदीप सैनी ने कहा कि लोक कलाकारों द्वारा लिखे गए गीतों को लेकर एक कैसेट तैयार की जाएगी। विभाग का प्रयास है कि पुराने लोकगीतों को संरक्षित करने का काम किया जाए। लोक गीत हरियाणा प्रदेश की धरोहर है और इस धरोहर को संभाल कर रखना सभी का कर्तव्य है। उन्होंने कहा कि विभाग के महानिदेशक डा. अभिलक्ष्य लिखी के अथक प्रयासों से लोक कलाकारों को हर प्रकार की सुविधाएं उपलब्ध करवाई जा रही हैं। अभी हाल ही में हैपनिंग हरियाणा ग्लोबल इन्वेस्टर मीट की अपार सफलता को भी जन-जन तक पहुंचाने का काम लोक कलाकारों द्वारा किया जाएगा। इस प्रशिक्षण शिविर के बाद सभी कलाकार अपने-अपने गृह क्षेत्र में जाकर सरकार की नीतियों का प्रभावी ढंग से प्रचार-प्रसार करेंगे।

मासिक राष्ट्रीय लोक अदालत 9 अप्रैल को
कुरुक्षेत्र 16 मार्च - जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की तरफ से मासिक राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन 9 अप्रैल को सुबह 9.30 बजे स्थानीय कोर्ट परिसर में किया जाएगा। इस लोक अदालत में परिवार और मजदूरों से सम्बंधित मामलों को रखा जाएगा। यह जानकारी जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव एवं सीजेएम गगनदीप मित्तल ने दी।

जिलास्तरीय किसान मेला व प्रदर्शनी 20 मार्च को
कुरुक्षेत्र 16 मार्च - कृषि विभाग की तरफ से आतमा व फसल विविधिकरण स्कीम के अंतर्गत 20 मार्च को पाल प्लाजा में सुबह 10 बजे किसान मेला और प्रदर्शनी का आयोजन किया जाएगा। यह जानकारी देते हुए कृषि विभाग के उपनिदेशक डा. वजीर सिंह ने कहा कि मेला क्षेत्र में विभिन्न विभागों, कृषि मशीनीकरण, बीज एवं दवाईयों की निर्माता कम्पनियों की तरफ से प्रदर्शनी लगाई जाएगी। प्रदर्शनी के लिए पहले आओ-पहले पाओ के आधार पर निशुल्क स्थान उपलब्ध करवाया जाएगा। इसके अलावा प्रदर्शनी में पहुंचने वाले करीब दो हजार किसानों को आमदनी बढ़ाने, पशुधन, बागवानी एवं अन्य गतिविधियों के बारे में जानकारी दी जाएगी। 

नियम 134-ए के तहत दूसरी से 12वीं कक्षा तक की कक्षाओं में दाखिले के लिए आवेदन किए आमंत्रित 
कुरुक्षेत्र 16 मार्च - जिला शिक्षा अधिकारी सुमन आर्य ने कहा कि हरियाणा विद्यालय शिक्षा नीति 2003 के तहत नियम 134-ए के तहत निजी मान्यता प्राप्त आर्थिक रूप से पिछड़े तथा गरीबी रेखा से नीचे यापन करने वाले परिवारों के बच्चों के लिए दूसरी से 12वीं तक की कक्षाओं में दाखिले के लिए आवेदन पत्र आमंत्रित किए गए हैं।
उन्होंने आज यहां जारी एक प्रैस विज्ञप्ति में कहा है कि आरटीई एक्ट 2009 के अंतर्गत कक्षा पहली में दाखिला लेने वाले बच्चों को आवेदन फार्म जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी के कार्यालय में जमा करवाए जाने हैं। पहली कक्षा के लिए आवेदन फार्म जमा करवाने की अवधि 22 मार्च से 31 मार्च 2016, दूसरी कक्षा से 12वीं कक्षा तक के लिए आवेदन जमा करवाने की अंतिम तिथि 29 मार्च से 8 अप्रैल 2016 तय की है। उन्होंने कहा कि पहली कक्षा के लिए आवेदन फार्म जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी कुरुक्षेत्र तथा दूसरी से 12वीं कक्षा तक के लिए आवेदन फार्म सीधे सम्बंधित खंड शिक्षा अधिकारी व खंड मौलिक शिक्षा अधिकारी के कार्यालय में जमा करवाए जाने हैं। दाखिला फार्म वेबसाईट डब्ल्यूडब्ल्यूडब्ल्यू.स्कूलएजुकेशनहरियाणा.जीओवी.इन पर तथा शिक्षा विभाग के सभी कार्यालयों में उपलब्ध हैं।
उन्होंने कहा कि अभिभावक दाखिला फार्म में अधिक से अधिक पांच स्कूलों के लिए अपने फार्म में नाम क्रमानुसार अंकित कर सकते हैं। पहली कक्षा में दाखिले के लिए ड्रा 11 अप्रैल को जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी कुरुक्षेत्र के कार्यालय में निकाला जाएगा। दूसरी से 12वीं कक्षा तक में दाखिले के लिए पहला ड्रा 18 अप्रैल, दूसरा ड्रा 26 अप्रैल को सम्बंधित खंड शिक्षा अधिकारी व खंड मौलिक शिक्षा अधिकारी के कार्यालय में निकाला जाएगा। इसके अतिरिक्त अगर सीटें खाली रह जाती हैं तो उनका ड्रा जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय में जिलास्तरीय कमेटी के समक्ष 30 अप्रैल तक निकाला जाएगा। दाखिले सम्बंधित सूचना स्कूलवार व कक्षावार शिक्षा विभाग के सभी कार्यालयों के नोटिस बोर्ड पर 28 मार्च 2016 से उपलब्ध रहेगी। 

फोटो समाचार
इफको का क्षेत्रीय सहकारी सम्मेलन सम्पन्न
कुरुक्षेत्र 16 मार्च - इफको की तरफ से स्थानीय पिपली रोड पर स्थित एक निजी संस्थान में क्षेत्री सहकारी सम्मेलन का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि सहकारी समितियां हरियाणा के उप-रजिस्ट्रार अनिल गौड़ थे। इस कार्यक्रम की अध्यक्षता इफको के राज्य विपणन प्रबंधक डा. पुष्पेंद्र वर्मा ने की। 
उप-रजिस्ट्रार अनिल गौड़ ने करनाल, कुरुक्षेत्र, पानीपत, यमुनानगर, कैथल, अम्बाला और पंचकुला से आए केंद्रीय सहकारी बैंक के मुख्य कार्यकारी अधिकारियों व विकास अधिकारियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि इफको द्वारा किसानों के हित में योजनाएं चलाई जा रही हैं तथा खाद व दवाईयां भी उपलब्ध करवाई जा रही हैं। उन्होंने इस सम्मेलन में आए सुझावों पर नियमानुसार कार्रवाई करने का आश्वासन दिया। इफको राज्य विपणन प्रबंधक डा. पुष्पेंद्र वर्मा ने कहा कि इफको का उद्देश्य सहकारिता को मजबूत करना है तथा उच्च गुणवत्ता के कृषि संसाधन किसानों को उपलब्ध करवाना है। इफको एमसी क्रॉप साईंस अनिल बिश्नाई ने इफको द्वारा कृषि रसायन के क्षेत्र में क्रांति लाने के उद्देश्य से इफको एमसी क्रॉप साईंस नाम की कम्पनी का गठन किया है। हरको फैड से अर्जुन सिंह राणा ने समाज की तरक्की के तीन रास्ते सहकारी, क्षेत्र तथा सहकारिता पर विस्तृत प्रकाश डाला। इफको करनाल के वरिष्ठ प्रबंधक राधेश्याम सहारन ने अतिथियों का स्वागत करते हुए सहकारिता की आन-बान-शान डा. उदय शंकर अवस्थी के मिट्टी बचाओ-देश बचाओ के संदेश को अधिकारियों तक पहुंचाया। इस कार्यक्रम में एसपीएस ने पावर प्रेजेंटेशन से इफको के तीन साल के सफर पर प्रकाश डाला।

विश्व प्रसद्धि चैत्र चौदस मेला 5 से 7 अप्रैल तक 
पिहोवा 16 मार्च - विश्व प्रसिद्ध चैत्र चौदस पिहोवा मेले का आयोजन 5 से 7 अप्रैल तक सरस्वती तीर्थ स्थल पर आयोजित किया जाएगा। इस मेले के प्रबंधों को लेकर 18 मार्च को सुबह 11 बजे किसान रेस्ट हाऊस पिहोवा में उपायुक्त सीजी रजिनिकांतन की अध्यक्षता में एक बैठक का आयोजन किया जाएगा। नगरपालिका सचिव निर्मल प्रकाश ने जारी प्रैस विज्ञप्ति में कहा है कि इस बैठक में सभी अधिकारी, सामाजिक व धार्मिक संस्थाओं के अधिकारी समय पर पहुंचना सुनिश्चित करेंगे। इस मीटिंग की सूचना सभी अधिकारियों व सामाजिक तथा धार्मिक संस्थाओं को दे दी गई है।

Wednesday, 16 March 2016

मैराथन का उद्देश्य लोगों को भाईचारे व शांति का संदेश देना है : पेट फार्मर

फोटो समाचार
मैराथन का उद्देश्य लोगों को भाईचारे व शांति का संदेश देना है : पेट फार्मर
आस्ट्रेलियन मैराथन धावक का पिपली पैराकीट में किया जोरदार स्वागत, 26 जनवरी से कन्या कुमारी से आरंभ की मैराथन, जम्मु तक जाएंगे संदेश लेकर
कुरुक्षेत्र 16 मार्च - आस्ट्रेलियन मैराथन धावक व पूर्व सांसद पेट फार्मर का बुधवार को पैराकीट में टूरिज्म विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों द्वारा भव्य स्वागत किया गया। 
भारत व आस्ट्रेलिया के सम्बंधों को और अधिक मजबूती देने व पर्यटन को बढ़ावा देने के उद्देश्य से कन्या कुमारी से कश्मीर तक 26 जनवरी 2015 को पदयात्रा पर निकले आस्ट्रेलियन मैराथन धावक व पूर्व सांसद पेट फार्मर का बुधवार को पिपली विश्रामगृह में टूरिज्म रिसोर्ट के इंचार्ज अनिल शर्मा, धर्म सिंह, भीम सिंह सहित खेल विभाग के खेल प्रशिक्षकों व साईकलिंग खिलाडिय़ों ने उनका फूल मालाओं से भव्य स्वागत किया। 
आस्ट्रेलियन धावक करीब 11 बजे पैराकीट रिसोर्ट में पहुंचे। उनके पहुंचने पर जिला प्रशासन की तरफ से जिला राजस्व अधिकारी अशोक मलिक, तहसीलदार ईश्वर चंद ने फूलमालाओं से स्वागत किया। रिसोर्ट के इंचार्ज अनिल शर्मा ने बताया कि पेट फार्मर का उद्देश्य पर्यटन व शांति को बढ़ावा देना है। इसी कारण हरियाणा टूरिज्म द्वारा उनका स्वागत किया जा रहा है। हरियाणा के होडल से 12 मार्च को उन्होंने प्रदेश में प्रवेश किया था, 13 मार्च को वे दिल्ली पहुंचे, 14 मार्च को हरियाणा के सिंधु बार्डर से हरियाणा के पर्यटन विभाग की टीम ने उनकी अगुवाई की, 15 मार्च को कार्यक्रम के अनुसार वे सोनीपत के राई पहुंचे तथा 15 मार्च को ही रात के समय करनाल विश्रामगृह में उन्होंने विश्राम किया व बुधवार 16 मार्च को वे पिपली के पैराकीट विश्राम गृह में पहुंचे, जहां पर खेल विभाग व टूरिज़म विभाग ने उनका भव्य स्वागत किया। कार्यक्रम के अनुसार 16 मार्च को ही वे अम्बाला के किंगफिशर पर्यटन स्थल में रात को विश्राम करेंगे। 
अपने भ्रमण के बारे में जानकारी देते हुए आस्टे्रलियन मैराथन धावक पेट फार्मर ने बताया कि इस अभियान के लिए उनका उद्देश्य केवल आस्टे्रलिया तथा भारत में आपसी भाईचारे को बढ़ाना है। इसके लिए उन्होंने 15 सदस्यीय टीम के साथ 26 जनवरी गणतंत्र दिवस के अवसर पर कन्या कुमारी से मैराथन दौड़ के माध्यम से जम्मु कश्मीर तक  पहुंचने का संकल्प लिया और अपनी इस यात्रा में वे स्थानीय लोगों को शांति का परिचय देते रहेंगे। 

कुरुक्षेत्र 16 मार्च -  जिला समाज कल्याण अधिकारी सुरजीत कौर ने बताया कि विभाग द्वारा खंड पिहोवा, नगरपालिका थानेसर के बुढ़ापा, विधवा, विकलांग, लाडली व अन्य योजनाओं के तहत पैंशन के लिए जिन लाभपात्रों ने आवेदन किया था, उनकी पैंशन मुख्यालय द्वारा स्वीकृत हो चुकी है। लाभपात्र अपनी पैंशन प्राप्त करने के लिए शीघ्र जिला समाज कल्याण अधिकारी कार्यालय में सम्पर्क करें। 
जिला समाज कल्याण अधिकारी सुरजीत कौर ने बताया कि जिला में जून 2015 से जनवरी 2016 तक खंड पिहोवा व नगरपालिका थानेसर व अन्य खंडों के लाभपात्र लोगों ने अपनी पैंशन बनवाने के लिए जिला समाज कल्याण विभाग में आवेदन किया था। उनकी पैंशन मुख्यालय द्वारा स्वीकृत हो चुकी है। सभी लाभपात्र पैंशन प्राप्त करने के लिए समाज कल्याण विभाग कार्यालय से अपना पैंशन सम्बंधी आईडी प्राप्त कर लें तथा लाभपात्र सम्बंधित बैंक, डाकघर, बीसीए के माध्यम से भी अपना खाता अपलोड करवाएं ताकि उनकी पैंशन जारी की जा सके। 

कुरुक्षेत्र 16 मार्च - उत्तर हरियाणा बिजली वितरण निगम द्वारा बिजली उपभोक्ताओं के लिए 17 मार्च 2016 को 11 बजे आप्रेशन सर्कल कार्यालय कुरुक्षेत्र में बिजली उपभोक्ताओं की बिजली सम्बंधित शिकायतों के शीघ्र निपटान के लिए सुनवाई की जाएगी। जानकारी देते हुए अधीक्षक अभियंता वीरंद्र कुमार ने बताया कि इलेक्ट्रिसिटी एक्ट 2003 की अनुपालना में उत्तर हरियाणा बिजली वितरण निगम द्वारा बिजली उपभोक्ताओं की बिजली सम्बंधी शिकायतों की सुनवाई करके निपटान करने के लिए शिकायत निवारण समिति की गठन किया है। कुरुक्षेत्र जिले में इसकी मासिक बैठक 17 मार्च को 11 बजे आप्रेशन सर्कल कुरुक्षेत्र में होगी। इस बैठक में पंचकुला से उच्च अधिकारी भाग लेंगे। उन्होंने कुरुक्षेत्र सर्कल के अंतर्गत आने वाले कुरुक्षेत्र, पिहोवा, शाहाबाद मंडलों के बिजली उपभोक्ताओं की बिजली सम्बंधी शिकायतों के लिए उपभोक्ताओं से अनुरोध किया है कि वे अपनी शिकायतों के शीघ्र निपटान के लिए इस बैठक में जरूर भाग लें।